नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। टोक्यो ओलिंपिक में भारत अब तक पांच पदक जीत चुका है। देश के लिए 15वां दिन मिलाजुला रहा। स्टार रेसलर बजरंग पुनिया फाइनल की रेस से बाहर हो गए। उन्हें सेमीफाइनल मुकाबले में हाजी एलियेव ने हाराया। वह अब भी कांस्य पदक जीत सकते हैं। वहीं, गोल्फर अदिति अशोक ने भी मेडल की उम्मीद जगाई है। वह तीसरे राउंड के बाद दूसरे स्थान पर हैं। मुकाबले का चौथा और फाइनल राउंड शनिवार को होगा। इसके अलावा हाकी में महिला टीम को चौथे स्थान से संतोष करना पड़ा। कांस्य पदक के मैच में टीम ग्रेट ब्रिटेन से हार गई।

Tokyo Olympics 2020 India Updates

बजरंग पुनिया सेमीफाइनल मुकाबला हारे

दूसरे हाफ में शुरुआत में बजरंग ने अजरबैजान के पहलवान के खिलाफ 5 अंक और गंवाए स्कोर 1-9 हो गया। इसके बाद बजरंग ने दो अंक हासिल कर वापसी की। स्कोर 3-9 तक पहुंचने के बाद बजरंग के पास वापसी का मौका नहीं बचा था। आखिरी मिनटों में भी अंक भारत के विरोध में गए और स्कोर 5-12 हो गया। यह मैच हारने के बाद अब बजरंग शनिवार को कांस्य पदक के मुकाबले में खेलेंगे।

भारतीय पहलवान फाइनल में जगह पक्की करने उतरे हैं। यहां उनको पहले हाफ में विरोधी के खिलाफ 1 अंक की बढ़त बनाने के बाद 3 अंक गंवाना पड़ा।

बजरंग पुनिया पहुंचे सेमीफाइनल में, विक्ट्री बाय फॉल 

भारतीय पहलवान बजरंज पुनिया ने शानदार खेल दिखाते हुए लगातार दूसरे मुकाबले में दमदार जीत हासिल की। इरान के विरोधी मुर्ताजा को पटखनी देकर सेमीफाइनल में जगह पक्की कर ली। पहले राउंड में पिछड़ने के बाद बजरंग ने शानदार दांव लगाया और मुर्ताजा को चित करते हुए विक्ट्री बाय फॉल से जीत हासिल की और पदक की तरफ अगला कदम बढ़ाया।

अदिति जीत सकती हैं पदक

महिला गोल्फर अदिति अशोक तीसरे दौर में तालिका में दूसरे स्थान पर हैं। फाइनल में एक दिन शेष है और अगर वह इसे बनाए रखती हैं, तो वह भारतीय टीम के लिए रजत पदक जीत सकती हैं। कल भी खराब मौसम की संभावना है। ऐसे में सभी भारतीय उम्मीद लगा रहें होंगे कि मौसम खराब रहे और भारत पदक जीत जाए।

बजरंग पूनिया क्वार्टर फाइनल में

भारतीय पहलवान दीपक पुनिया- फोटो ट्विटर पेज

भारतीय पहलवान दीपक पुनिया के कोच को निकाला गया खेल गांव से बाहर, किया था ये शर्मिंदा करने वाला कामयह भी पढ़ें

भारतीय पहलवान बजरंग पूनिया ने पुरुषों के 65 किग्रा फ्रीस्टाइल 1/8 फाइनल मैच में किर्गिस्तान के ई अखमदालिव के खिलाफ जीत हासिल की और टोक्यो ओलिंपिक के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया।

भारत अब तक टोक्यो में जारी ओलिंपिक में पांच पदक जीत चुका है, जिसमें से दो पदक सिल्वर मेडल के रूप में आए हैं, जबकि तीन पदक कांस्य के रूप में आए हैं। चार व्यक्तिगत प्रतिस्पर्धाओं में भारत ने पदक जीते हैं, जबकि एक पदक टीम के रूप में आया है, जिसे हॉकी पुरुष टीम ने जीता है।

भारतीय महिला गोल्फर अदिति अशोक (एपी फोटो)

Tokyo Olympics 2020: गोल्फ में भारत को मिल सकता है पहली बार पदक, अदिति अशोक से है बड़ी उम्मीदयह भी पढ़ें

महिला हॉकी टीम हारी

रियो ओलिंपिक की गोल्ड मेडल विजेता ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ भारतीय महिला हॉकी टीम ने कांस्य पदक के लिए लड़ाई लड़ी, लेकिन भारत को हार झेलनी पड़ी। ग्रेट ब्रिटेन ने 4-3 से जीत दर्ज कर टोक्यो ओलिंपिक में कांस्य पदक जीतने में सफलता हासिल की। भारतीय महिला हॉकी टीम ने पहले क्वार्टर में अच्छा खेल दिखाया। हालांकि, दोनों ही टीमें पहले हाफ के पहले क्वार्टर में एक भी गोल नहीं कर पाईं। कुछ मौके दोनों टीमों को गोल के लिए मिले थे, लेकिन कोई भी गेंद को नेट में नहीं पहुंचा सका।

भारत के पूर्व हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद (एपी फोटो)

EXCLUSIVE INTERVIEW: प्रधानमंत्री ने देश की भावना को महसूस किया : अशोक ध्यानचंदयह भी पढ़ें

सीमा बिसला को मिली हार

 भारतीय पहलवान सीमा बिसला को पहले दौर में हार का सामना करना पड़ा। ट्यूनिशा का पहलवान सारा हमदी ने उनको 1 के मुकाबले 3 अंक से हराया। अब अगर हमदी फाइनल में पहुंचने में कामयाब हुई तो सीमा को रेपचेज में जगह मिलेगी। यहां उनके पास कांस्य पदक जीतने का मौका होगा।  

भारतीय महिला हॉकी टीम को दूसरे क्वार्टर के पहले ही मिनट में गोल खाना पड़ा। थ्रीडी स्किल्स के जरिए ग्रेट ब्रिटेन की ओर से एलीना सियान ने गोल किया और कांस्य पदक के इस मैच में खाता खोला। दूसरा गोल करीब दसवें मिनट में इंग्लैंड की टीम ने किया, जब सारा रॉबर्ट्सन ने गोल किया और बढ़त को 2-0 में तब्दील किया, लेकिन भारतीय महिला टीम ने भी वापसी करते हुए एक गोल दागा।

दूसरे क्वार्टर में गुरजीत कौर ने गोल दागा और बढ़त को कम किया। इतना ही नहीं, जब भारत को पेनाल्टी कार्नर मिला तो गुरजीत ने फिर से 11वें मिनट में गोल कर भारत को बराबरी पर ला खड़ा किया। दूसरे ही क्वार्टर के आखिरी के कुछ मिनटों में भारत की तरफ से एक और गोल दागा गया। वंदना कटारिया ने भारत के लिए तीसरा गोल किया। हाफ टाइम तक भारत 3-2 से आगे था, लेकिन इसके बाद भारत आगे नहीं निकल सका।

भारत के स्टार पहलवान बजरंग पूनिया (एपी फोटो)

Tokyo Olympics: बजरंग पूनिया सेमीफाइनल का रीप्ले देखेंगे तो खुद हैरान होंगे- साक्षी मलिकयह भी पढ़ें

मैच के तीसरे क्वार्टर की शुरुआत में ग्रेट ब्रिटेन ने तीसरा गोल दागा और मैच फिर से बराबरी पर आ खड़ा हुआ। इंग्लैंड के लिए कप्तान वेब हॉली ने गोल किया। इस तरह तीसरे क्वार्टर में ग्रेट ब्रिटेन ने 3-3 की बराबरी पर मुकाबला छोड़ा। मैच का चौथा और आखिरी क्वार्टर खास और रोमांचक रहा, जिसमें ग्रेट ब्रिटेन की ओर से ग्रेस बैल्सन ने पेनाल्टी कार्नर के जरिए गोल दागा, जो निर्णायक साबित हुआ और इस तरह ग्रेट ब्रिटेन ने 4-3 की बढ़त हासिल की और ये बढ़त अंत तक बनी रही। भारत के पास कुछ मौके जरूर बराबरी करने के लिए आए, लेकिन टीम 3-4 से पिछड़ गई और कांस्य पदक भारत के हाथ से फिसल गया। 

Tokyo Olympics में रवि दहिया ने (AFP फोटो)

Tokyo Olympics के सिल्वर मेडलिस्ट रवि कुमार दहिया को क्यों कहा जाता है शांत तूफान, जानिएयह भी पढ़ें

पदक के मुकाबले

हाकी (महिला) : कांस्य पदक का मैच, सुबह 7:00 बजे से, बनाम ग्रेट ब्रिटेन

———

एथलेटिक्स :

20 किमी पैदल चाल (महिला वर्ग) : फाइनल, दोपहर 1:00 बजे

खिलाड़ी : प्रियंका गोस्वामी और भावना जाट

50 किमी पैदल चाल (पुरुष वर्ग) : फाइनल, दोपहर 2:00 बजे

खिलाड़ी : गुरप्रीत सिंह

——————–

अन्य मुकाबले

कुश्ती : अंतिम-16, सुबह 8:00 बजे

पुरुष : बजरंग पूनिया

महिला : सीमा बिसला

—————

एथलेटिक्स

पुरुष 4 गुना 400 मीटर रिले राउंट-1 हीट-2, शाम 5:07 बजे

——————–

गोल्फ : महिला व्यक्तिगत स्ट्रोक प्ले राउंड 3, सुबह 4:00 बजे से

खिलाड़ी : अदिति अशोक और दीक्षा डागर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here